क्रिकेट बेटिंग और फैंटेसी क्रिकेट में क्या सबसे अच्छा है?

भारत में बहुत सारे लोग क्रिकेट बेटिंग करना पसन्द करते हैं, तो कई सारे लोग फैंटेसी क्रिकेट में भी रूचि दिखाते हैं। हालांकि कुछ राज्यों में फैंटेसी क्रिकेट ऐप को प्रतिबंधित किया गया है, तो वहीं क्रिकेट बेटिंग पूरे भारत में प्रतिबंधित है। लेकिन भारत में विदेशी बुकमेकर लीगल तरीके से काम कर रहे हैं, क्योंकि यहां पर इससे संबंधित कानून नहीं बने हुए हैं। हालांकि देश में क्रिकेट बेटिंग को अधिक महत्व दिया जाता है, क्योंकि इसमें पैसे जीतने के अधिक अवसर और मार्केट उपलब्ध रहते हैं। इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि क्रिकेट बेटिंग और फैंटेसी क्रिकेट में सबसे अच्छा क्या है?

फैंटेसी क्रिकेट क्या है?

फैंटेसी क्रिकेट में आपको दोनों टीम को मिलाकर कुल 11 खिलाड़ी चुनने होते हैं। हर खिलाड़ी के लिए अलग-अलग पॉइंट निर्धारित होते हैं और आपको 100 पॉइंट के अंदर 11 अलग-अलग खिलाड़ी लेने होते हैं। इसमें विकेटकीपर, बैट्समैन, ऑलराउंडर और बॉलर लेने की न्यूनतम और अधिकतम सीमा निर्धारित की गई होती है, जबकि एक टीम से अधिकतम खिलाड़ी लेने की सीमा 7 और न्यूनतम सीमा 4 तय की गई है। 

हर खिलाड़ी के रन बनाने, अर्धशतक और शतक जड़ने, कैच लेने, रन आउट करने, विकेट लेने, कम इकोनॉमी से रन खर्च करने, मेडन ओवर फेंकने इत्यादि पर प्वाइंट दिए जाते हैं, तो वहीं शून्य पर आउट होने और अधिक इकोनॉमी से रन खर्च करने पर प्वाइंट घटाए भी जाते हैं। 

Read: भारत में क्रिकेट बेटिंग लीगल करने के फायदे एवं नुकसान

इसमें आपको एक टीम बनाकर पूरे मैच इंतजार करना होता है और आप बीच मैच मे कोई छेड़छाड़ भी नहीं कर सकते और ना ही नई टीम बना सकते हैं। इन ऐप में मेगा कॉन्टेस्ट में बड़े प्राइज पूल भी होते हैं और साथ ही साथ इनमें हेड टू हेड कॉन्टेस्ट भी उपलब्ध रहते हैं। हालांकि इसमें बड़ी जीत हासिल करने पर 30% रकम टैक्स के रूप में देना पड़ता है। 

क्रिकेट बेटिंग क्या है?

क्रिकेट बेटिंग में आप मैच से पहले और मैच के दौरान बेट लगा सकते हैं। इसमें कई बाजार उपलब्ध होते हैं और आप अपनी इच्छा अनुसार किसी भी बाजार पर बैठ लगा सकते हैं और जीत हासिल कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर एक ओवर में, 6 ओवर, 10 ओवर, 15 ओवर और 20 ओवर में कुल रन, कितने रन के अंदर या बाद में विकेट गिरेगा, कौन बल्लेबाज कितने रन बनाएगा, कौन गेंदबाज कितने रन खर्च करेगा या कितने विकेट लेगा, अगला विकेट किस प्रकार से गिरेगा, इत्यादि। 

Read: भारत में ऑनलाइन क्रिकेट बेटिंग कैसे करें?

बेटिंग में आप एक मैच के दौरान एक ही साथ कई बेट लगा सकते हैं। एक बाजार पर बेट लगाने के बाद भी आप उस पर फिर से बेट लगा सकते हैं और आपके पास अपने हार को कवर करने के भी कई मौके मिलते हैं। इसमें आपको एक बेट लगाकर पूरे मैच इंतजार नहीं करना होता है। इसके अलावा क्रिकेट बेटिंग में आपको कोई टैक्स नहीं देना होता है।

क्रिकेट बेटिंग और फैंटेसी क्रिकेट में क्या सबसे अच्छा है?

यदि क्रिकेट बेटिंग और फैंटेसी क्रिकेट की तुलना की जाए तो क्रिकेट बेटिंग सबसे अच्छा है क्योंकि इसमें आपके पास पैसे कमाने के कई सारे अवसर उपलब्ध होते हैं। इतना ही नहीं आप मैच के दौरान कई सारे बेट लगा सकते हैं और एक बेट में हारने के बाद अगले बेट को लगाकर अपनी हार को कवर भी कर सकते हैं। 

यहां पर आपको बेट लगाने के बाद पूरे मैच में इंतजार नहीं करना होता है, जबकि फैंटेसी क्रिकेट में एक टीम बनाकर किसी भी कॉन्टेस्ट को ज्वाइन करने के बाद और मैच शुरू होने के बाद आप बीच में कुछ भी नहीं कर सकते हैं। फैंटेसी क्रिकेट में यदि आप अधिक राशि जीत जाते हैं तो आपको उसका कुछ प्रतिशत टैक्स देना पड़ता है। उदाहरण के रूप में dream11 में ₹1,00,000 और एम पी एल में ₹10,000 से अधिक राशि जीतने पर 30% टैक्स देना पड़ता है। 

Read: बेटिंग के 10 गोल्डेन नियम

यानी यदि आप ₹1,00,000 जीत जाते हैं तो आपको सिर्फ ₹70,000 ही मिलेंगे, जबकि बेटिंग में यदि आप ₹1,00,000 जीत जाते हैं तो आपको पूरे पैसे मिलेंगे। यानी इसमें आपका नुकसान कम है, फिलहाल अभी सरकार द्वारा बेटिंग से कमाए गए पैसों पर टैक्स भी नहीं लिया जाता है। यदि आप लीगल तरीके से बेटिंग करना चाहते हैं तो विदेशी बुकमेकर के साथ ऑनलाइन क्रिकेट बेटिंग कर सकते हैं। इसीलिए पैसे कमाने के मामले में फैंटेसी क्रिकेट के मुकाबले क्रिकेट बेटिंग सबसे अच्छा माना जाता है।

Leave a Reply

TheTopBookies
Advertise With Us