Nicholas Pooran

जब भी क्रिकेट में आक्रामक बल्लेबाजों की बात होती है तो सबसे पहले वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों का नाम आता है जैसेकि क्रिस गेल, आंद्रे रसेल, पोलार्ड इत्यादि। ऐसे ही एक आक्रामक बल्लेबाज का नाम है निकोलस पूरन जोकि बाएं हाथ के आक्रमक बल्लेबाज है और किसी भी समय मैच को अपनी टीम के पक्ष में करने का माद्दा रखते है। आज हम आपकों वेस्टइंडीज के इसी खतरनाक बल्लेबाज के बारें में बताने जा रहें है।

निकोलस पूरन का जीवन परिचय

बाएं हाथ के इस बल्लेबाज का जन्म 2 अक्टूबर 1995 के दिन त्रिनिदाद एंड टोबैगो में हुआ था। पूरन मूल रूप से भारतीय है। निकोलस त्रिनिदाद एंड टोबैगो की तरफ से वेस्टइंडीज की अंतरराष्ट्रीय टीम में खेलते है। उन्होंने वेस्टइंडीज के लिए अंतरराष्ट्रीय डेब्यू 2016 में किया था। पूरन San Fernando के Naparima College से पढ़ चुके है और वो अपनी स्कूल टीम के लिए क्रिकेट खेल चुके है। पूरन बल्लेबाज होने के साथ विकेटकीपर भी है।

निकोलस पूरन का घरेलू क्रिकेट में प्रवेश

पूरन त्रिनिदाद एंड टोबैगो की तरफ से बहुत से टूर्नामेंट में खेलें है। उन्होंने 2012 के रीजनल टूर्नामेंट में अंडर-19 डेब्यू किया था और उनकी उम्र उस समय महज 16 वर्ष थी। पूरन ने वेस्टइंडीज के लिए अंडर-19 डेब्यू अक्टूबर 2013 में किया था जब वेस्टइंडीज अंडर-19 की टीम बांग्लादेश अंडर-19 के खिलाफ खेली थी। 2014 के अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप में पूरन वेस्टइंडीज टीम के विकेटकीपर और उपकप्तान थे। उस टूर्नामेंट में उन्होंने 6 मैचों में 303 रन बटोरे थे, जिसमें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 143 रनों की शानदार पारी खेली थी।

अंडर-19 से पहले निकोलस पूरन घरेलू एकदिवसीय Super-50 में त्रिनिदाद एंड टोबैगो की तरफ से चार मैच खेले थे। पहले CPL सीजन में वो Red Steel की तरफ से खेले थे।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में निकोलस पूरन

निकोलस ने वेस्टइंडीज के लिए इंटरनेशनल टी-20 में 2016 में पाकिस्तान के खिलाफ डेब्यू किया था। इसके बाद 2018 में जब भारत दौरे के लिए वेस्टइंडीज टीम की घोषणा की गई तो उसमें निकोलस का नाम शामिल था। भारत दौरे के तीसरे टी-20 मैच में उन्होंने केवल 25 गेंदों पर 53 रन रनों की धुंआधार पारी खेली थी और ये टी-20 मैच में उनका पहला अर्धशतक था।

फरवरी 2019 में इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली एकदिवसीय सीरीज के लिए उन्हें वेस्टइंडीज टीम में चुना गया। पूरन ने 20 फरवरी 2019 को इंग्लैंड के खिलाफ एकदिवसीय क्रिकेट में पर्दापण किया। अप्रैल 2019 में इंग्लैंड में होने वाले विश्वकप के लिये वेस्टइंडीज टीम में निकोलस पूरन को भी स्थान मिला था। विश्व कप 2019 में निकोलस ने वेस्टइंडीज की तरफ से सबसे ज्यादा 367 रन बनाए थे। इसी बेहतरीन प्रदर्शन के चलते जुलाई 2019 में पहली बार निकोलस पूरन को वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड के द्वारा सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट दिया गया था।

निकोलस पूरन का IPL में सफर

फरवरी 2017 में निकोलस को मुंबई इंडियंस के द्वारा 2017 सीजन के लिए 30 लाख में खरीदा गया लेकिन पूरे सीजन में उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला। 2018 कि नीलामी में उन्हें किसी भी टीम ने नहीं खरीदा था। 2019 सीजन के लिए दिसंबर 2018 में हुई नीलामी मे किंग्स इलेवन पंजाब ने उन्हें 4.2 करोड़ रुपये में खरीदा। IPL 2020 का सीजन निकोलस के लिए काफी बेहतरीन रहा जहां उन्होंने 14 मैचों में 353 रन बनाए थे। 2021 के सीजन में उनका प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा था। 2022 सीजन के लिए सनराइजर्स हैदराबाद ने उन्हें 10.75 करोड़ में खरीद लिया है।

Leave a Reply

TheTopBookies