Glenn Maxwell

ग्लेन मैक्सवेल ऑस्ट्रेलिया के प्रसिद्ध ऑल राउंडर है। इनका जन्म ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न विक्टोरिया शहर मे हुआ था। इनके पिता का नाम नील मैक्सवेल और माता का नाम जय मैक्सवेल है। मैक्सवेल की अभी हाल ही में शादी विनी रमन के साथ हुई है। विनी रमन भारतीय हैं, परंतु इन्होंने ऑस्ट्रेलिया की नागरिकता ले रखी है। यह एक दूसरे को सन 2017 से जानते थे। मैक्सवेल ने अपनी शादी (ऑस्ट्रेलिया)में ईसाई धर्म के साथ अपनी शादी रचाई है।

ऑस्ट्रेलिया को विश्व कप दिलाने में मैक्सवेल का बहुत बड़ा योगदान है। यह दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं, मैक्सवेल बड़े-बड़े छक्के लगाने में प्रसिद्ध है साथ ही यह ऑस्ट्रेलिया टीम के बेहतरीन दाएं हाथ के ब्रेक ऑफ गेंदबाज भी हैं।

आईपीएल करियर

मैक्सवेल ने अपने आईपीएल करियर की शुरुआत दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम से 2012 में जुड़कर की थी।  इसके बाद सन 2013 में ग्लेन मैक्सवेल  मुंबई इंडियन की ओर से खेलें। इसके बाद पंजाब की टीम ने इन पर भरोसा दिखाते हुए इनको अपने टीम में शामिल किया।  इन्होंने पंजाब किंग की टीम के लिए बहुत ही बेहतरीन प्रदर्शन किया। ग्लेन मैक्सवेल और डेविड मिलर की जोड़ी पंजाब की टीम की बल्लेबाजी को मजबूती प्रदान करती थी। इन दोनों बल्लेबाजों ने कितने ही सालों तक पंजाब की टीम में एक साथ बल्लेबाजी की।  लेकिन इसके बाद 2021 में ग्लेन मैक्सवेल को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की टीम ने मोटी रकम देकर अपनी टीम में शामिल कर लिया था।

ग्लेन मैक्सवेल ने वहां पर आकर ताबड़तोड़ प्रदर्शन किया। इन्होंने रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु की टीम के लिए 5 अर्धशतक बनाएं।  किसी भी फ्रेंचाइजी में आकर लगातार पांच अर्धशतक बनाने वाले ग्लेन मैक्सवेल पहले बल्लेबाज हैं। इनसे पहले यह रिकॉर्ड किसी के नाम नहीं था। इसके अलावा अगर हम ग्लेन मैक्सवेल की गेंदबाजी की बात करें तो ग्लेन मैक्सवेल एक शानदार  गेंदबाज भी है। इन्होंने  रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु  की टीम के लिए बहुत बार  पावरप्ले में गेंदबाजी की हैं और वहां पर अपनी टीम को शुरुआत में ही विकेट दिला देते हैं। इस बार फिर ग्लेन मैक्सवेल रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम की तरफ से ही खेल रहे हैं।

अंतरराष्ट्रीय करियर

इन्होंने सर्वप्रथम विक्टोरिया के लिए खेलना शुरू किया था। इसके बाद इन्होंने वहां पर बहुत ही ताबड़तोड़ प्रदर्शन किया, जिसकी वजह से इनका चयन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी कर लिया गया। ग्लेन मैक्सवेल ने श्रीलंका के खिलाफ विश्व कप में अब तक का सन 2016 में  सबसे तेज शतक लगाया था। इन्होंने ऑस्ट्रेलिया टीम को विश्व कप जिताने में भी बहुत ही बड़ा योगदान दिया। इन्होंने अपनी बल्लेबाजी से अपने नाम बड़े-बड़े रिकॉर्ड किए हैं।

इसके बाद  ग्लेन मैक्सवेल में  अपने दूसरे  वनडे में  पाकिस्तान के खिलाफ 38 गेंदों पर 38 रनों की पारी खेली।  इसके बाद ग्लेन मैक्सवेल चर्चाओं में आ गए थे। इन्होंने कई बार अपनी बल्लेबाजी से ऑस्ट्रेलिया की टीम को लगभग हारे हुए मुकाबले में भी जीत दिलाई है। जब मैक्सवेल ऑस्ट्रेलिया के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में बल्लेबाजी करने के लिए आते हैं, तो यह वहां पर चौके और छक्कों की बरसात कर कर रखते हैं।

कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

ग्लेन मैक्सवेल ने 2012 में एक दिवसीय एकदिवसीय मैच में अफगानिस्तान के खिलाफ अपना वनडे में डेब्यू किया था।

मैक्सवेल ने मैक्सवेल ने अपने दूसरे वनडे में पाकिस्तान के खिलाफ 38 गेंद पर 38 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली। जिससे इन्होंने ऑस्ट्रेलिया को मुश्किल वक्त में जीत दिलाई।

पाकिस्तान के खिलाफ खेले जा रहे दौरे के एक T20  मुकाबले में ग्लेन मैक्सवेल ने उनके खिलाफ 20 गेंदों पर 27 रन बनाए। ग्लेन मैक्सवेल के इस शानदार प्रदर्शन के चलते इन्होंने ऑस्ट्रेलिया की टीम को वह हारा हुआ मैच भी जिता दिया।

Leave a Reply

TheTopBookies
Advertise With Us